Indian Railway main logo
खोज :
Increase Font size Normal Font Decrease Font size
   View Content in English
National Emblem of India

हमारे बारे में

यात्रियों के लिए महत्वपूर्ण जानकारी

समाचार एवं भर्ती सूचनाएं

मेट्रो चेतना

निविदाएं

मेट्रो कर्मी

हमसे संपर्क करें



 
Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS

मेट्रो रेलवे चिकित्‍सा विभाग

वेबसाइट सूचना – 2012

 

चिकित्‍सा

मेट्रो रेलवे, कोलकाता का एक 30 बिस्‍तरयुक्‍त अस्‍पताल 120 देशप्राण ससमाल रोड, कोलकाता – 700033 में स्‍थित है। उपलब्‍ध चिकित्‍सा सुविधाओं में आंतरिक रोगी उपचार, बाह्यरोगी उपचार एवं कुछ जांच आदि की सुविधाएं शामिल हैं। इस सुविधा का लाभ मेट्रो रेलवे कर्मचारियों, उनके परिवार के आश्रित सदस्‍यों एवं इस अस्‍पताल के साथ पंजीकृत सेवानिवृत रेलवे कर्मचारी भी उठा सकते हैं। अस्‍पताल के अतिरिक्‍त नोआपाड़ा स्‍थित प्राथमिक उपचार केंद्र एवं मेट्रो भवन तथा बेलगछिया में स्‍थित लॉक अप डिस्‍पेंसरी में भी बाह्य रोगी उपचार सुविधा उपलब्‍ध है। फिर भी गंभीर बीमारियों के संबंध में गहन चिकित्‍सा के लिए एवं कुछ ऐसे विशेषज्ञ इलाज के लिए जो मेट्रो रेलवे में उपलब्‍ध नहीं है, मेट्रो रेलवे के रोगियों को पूर्व रेलवे एवं दक्षिण पूर्व रेलवे की अस्‍पतालों में भी भेजा जाता है। उसी प्रकार कई विशेज्ञ उपचार भी यहां अनुपलब्‍ध हैं तथा रोगियोंको इस प्रकार की जांचों की आवश्‍यकता होने पर अन्‍य अस्‍पतालों में भेजा जाता है। मेट्रो रेलवे चिकित्‍सा विभाग ने उपलब्‍ध सीमित सुविधाओं के साथ भी गुणवतापूर्ण स्‍वस्‍थ्‍य सेवा उपलब्‍ध कराने का हरसंभव प्रयासकिया है। तत्‍कालीन रेलमंत्री सुश्री ममता बनर्जी द्वारा संसद में पेश की गई वर्ष 2010-11 के रेलवे बजट में 75 बिस्‍तरयुक्‍त उन्‍नत मेट्रो रेलवे अस्‍पताल का प्रस्‍ताव किया गया था।तथा तपन सिन्‍हा स्‍मारक अस्‍पताल (टीएमएसएच) नाम से बन रही अस्‍पताल की आधारशिला 08.01.2010 को रखी गई एवं मेट्रो रेलवे के इंजीनियरी विभाग द्वारा निर्माण कार्य प्रारंभ किया गया। नए अस्‍पताल के प्रथम चरण को 01.03.2011 से प्रारंभ कर दिया गया जिसमें आधुनिक फिजियोथेरापी इकाई शामिल है। दूसरे चरण का निर्माण कार्य चल रहा है। संपूर्ण अस्‍पताल में बेसमेंट का एक ओपीडी ब्‍लॉक + 6 तल एवं बेसमेंट का आईपीडी ब्‍लॉक+9 तल होंगे तथा एक ही छत के नीचे सभी विशेषज्ञ उपचारों की सुविधा उपलब्‍ध है।

समय लाइन

Ø28 मई,1990 – टॉलीगंज स्‍वास्‍थ्‍य इकाई ने कार्य करना प्रारंभ किया। आंतरिक चिकित्‍सा की आवश्‍यकता वाले रोगियों को पास के रेलवे अस्‍पतालों अर्थात बी.आर.सिंह अस्‍पताल,सेंट्रल अस्‍पताल गार्डेनरीच, हावड़ा ऑर्थोपेडिक आदि में भेजे जाते थे।

Øटॉलीगंज स्‍थित स्‍वास्‍थ्‍य इकाई को 30 बिस्‍तरयुक्‍त अस्‍पताल में उन्‍नयन करने का प्रस्ताव रखा गया तथा रेलवे बजट 2001-02 में शामिल किया गया।

Øदिसंबर,2004 को 30 बिस्‍तरयुक्‍त अस्‍पताल का उदघाटन किया गया

Ø पर्याप्त श्रमशक्ति के आभाव में विभिन्न अनुबंधित सेवाओं जैसे आकस्मिक सेवा, नर्सिंग सेवा, ओपीडी एवं तकनीकी सेवाएं, कैटरिंग सेवा, सफाई सेवा आदि के साथ आंतरिक सेवाएँ दिनांक 15 जून, 2005 को आरंभ हुई।

एक वर्ष तक कार्य करने के बाद आंतरिक सुविधाओं को 29.07.2006 से 07.12.2008 तक निलंबित रखा गया।

Øएजेंसियों के माध्‍यम से ठेका कर्मियों के नियोजन के साथ ही आंतरिक सेवाओं को 8 दिसंबर, 2008 से पुन: प्रारंभ किया गया। पिछले एक वर्ष (2011 -2012) में औसत भर्ती होने वाले रोगियों की औसत प्रतिशत 80% तथा कभी – कभी यह 100% से भी अधिक रही है। कई जटिल रोगियों को भी पूरी तरह से स्‍वास्‍थ्‍य किया गया है।

Øअस्‍पताल को पुन: बहु विशेषज्ञ 75 बिस्‍तरयुक्‍त अस्‍पताल में उन्‍नत करने के लिए रेलवे बजट 2009-2010 में इसकी घोषणा की गई तथा तत्‍कालीन रेलमंत्री सुश्री ममता बनर्जी द्वारा 08.01.2010 को तपन सिन्‍हा स्‍मारक अस्‍पताल के नाम से निर्मित  होनेवाली अस्‍पताल का शिलान्‍यास किया गया। भवन संसद में पेश की गई वर्ष 2010-11 के रेलवे बजट में 75 बिस्‍तरयुक्‍त उन्‍नत मेट्रो रेलवे अस्‍पताल का प्रस्‍ताव किया गया था।

Ø आधुनिक फिजियोथेरापी इकाई सहित नए अस्‍पताल के प्रथम चरण को 01.03.2011 से प्रारंभ कर दिया गया। दूसरे चरण का निर्माण कार्य चल रहा है।

Øसमीपवर्ती मेट्रो उत्‍थित मार्ग से उत्‍पन्‍न होने वाली ध्‍वनि एवं कंपन को कम करने के कार्य के लिए निविदा को अंतिम रूप दिया जा रहा है।

Øआईपीडी ब्‍लॉक का काम जून 2013 तक पूरा हो जाने की आशा है तथा उसके बाद उन्‍नतीकृत सेवाएं जून, 2013 से प्रारंभ की जा सकती हैं बशर्ते कि पर्याप्‍त श्रमशक्‍ति उपलब्‍ध हों।




Source : मेट्रो रेलवे कोलकता / भारतीय रेल का पोर्टल CMS Team Last Reviewed on: 21-09-2015  


  प्रशासनिक लॉगिन | साईट मैप | हमसे संपर्क करें | आरटीआई | अस्वीकरण | नियम एवं शर्तें | गोपनीयता नीति Valid CSS! Valid XHTML 1.0 Strict

© 2010  सभी अधिकार सुरक्षित

यह भारतीय रेल के पोर्टल, एक के लिए एक एकल खिड़की सूचना और सेवाओं के लिए उपयोग की जा रही विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं द्वारा प्रदान के उद्देश्य से विकसित की है. इस पोर्टल में सामग्री विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं और विभागों क्रिस, रेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा बनाए रखा का एक सहयोगात्मक प्रयास का परिणाम है.