Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS

औषधि की खरीद

मेट्रो रेलवे अस्‍पताल एक नई संपति होने के कारण अपने सीमित श्रमशक्‍ति के साथ फार्माक्‍युटिकल्‍स कंपनियों एवं वितरकों के पंजीकरण की प्रक्रिया अभी पूरी नहीं हो पायी है। फिर भी यह सक्रिय रूप से विचाराधीन है तथा शीघ्र ही मेट्रो रेलवे चिकित्‍सा विभाग द्वारा फार्मों की प्रक्रिया एवं पंजीकरण की जाएगी।
कुछ समय के लिए निम्‍नलिखित फार्म/वितरक सीमित निविदा के माध्‍यम से मेट्रो रेलवे अस्‍पताल के लिए दवाओं की आपूर्ति कर रहे हैं। ये फार्म /वितरक पहले ही पूर्व रेलवे एवं द.पूर्व रेलवे के साथ पंजीकृत हैं।
क्रय आदेश के माध्‍यम से खरीद
क्रय आदेश पर सीमित निविदा के माध्‍यम से दवाओं की खरीद निम्‍नलिखित निबंधन एवं शर्त्‍तों के अधीन की जाती है :-

निबंधन एवं शर्त्‍तें

1.एफओआर मूल्‍य

2.
बिक्री कर : इसका उल्‍लेख विस्‍तारपूर्वक स्‍पष्‍ट रूप से किया जाना चाहिए।

3.
उत्‍पाद शुल्‍क 

4.
चुंगी 

5.
आपूर्ति की गई दवाईयां आकस्‍मिक प्रभार से मुक्‍त होने चाहिए जो भारतीय रेलवे संविदा की मानक शर्त्‍तें नवीनतम संस्‍करण एवं इस संविदा के लिए लागू उसी विषय की अनुशेष के अधीन होने चाहिए।
6.
आपूर्ति  : क्रय आदेश की प्राप्‍ति से 4 – 6 सप्‍ताह के भीतर

7.
सामग्री मांगकर्ता को सौंपी जानी चाहिए।

8.
भुगतान: भुगतान ईएफटी (ईएफटी आदेश प्रपत्र यहां नीचे दिखाया गया है) के माध्‍यम से किया जाएगा एवं आपूर्ति के पश्‍चात बिल तीन प्रतियों में एवं साथ में संबंधित बाउचर 30 दिनों के भीतर मांगकर्ता के पास जमा की जानी चाहिए बशर्ते कि सही आपूर्ति एवं संविदा का संतोषप्रद निष्‍पादन किया गया हो एवं बिक्री कर, पंजीकरण संख्‍या तथा तिथि का उल्‍लेख बिल में किया जाना चाहिए। बिल की तीन प्रतियां इस कार्यालय के रिकार्ड के लिए भेजी जानी चाहिए।

9.
निरीक्षण : सामग्री निरीक्षण के अधीन होगी जिसका निरीक्षण अस्‍पताल में सामग्री के प्राप्‍त होने के बाद मांगकर्ता द्वारा या उसके प्राधिकृत प्रतिनिधि द्वारा किया जाएगा। सामग्री रेलवे/सरकारी/सरकारी मान्‍यताप्राप्‍त लेबोरेटरी में जांच के अधीन भी होगी।

10.
बिल पारित करनेवाले अधिकारी का हस्‍ताक्षर: चिकित्‍सा अधीक्षक,120, डीपीएस रोड, कोलकाता 700033.

11.
बिल का भुगतान करनेवाले अधिकारी का नाम: विसमुलेधि/मेट्रो रेलवे 33/1, चौरंगी रोड, कोलकाता-33.

12.
आईटीसीसी, एसटीसीसी को अद्यतन तक वैध होने चाहिए।

13.
उपरोक्‍त तिथि से बाहर बिल का भुगतान नहीं किया जाएगा जबतक कि इस कार्यालय में वैध आईटीसीसी एवं एसटीसीसी जमा न कर दी जाएग।
14.
लेबल/पट्टी आदि पर केवल रेलवे के प्रयोग हेतु शब्‍द मुद्रित होने चाहिए/ मुहर लगाए जाने चाहिए।

15.
जीवनकाल /गारंटी सुपुर्दगी की तिथि से कम से कम 15 (पंद्रह) महीनों तक होना चाहिए


मेट्रो रेलवे अस्‍पताल एक नई संपति होने के कारण अपने सीमित श्रमशक्‍ति के साथ फार्माक्‍युटिकल्‍स कंपनियों एवं वितरकों के पंजीकरण की प्रक्रिया अभी पूरी नहीं कर पायी है। फिर भी यह सक्रिय रूप से विचाराधीन है तथा शीघ्र ही मेट्रो रेलवे चिकित्‍सा विभाग द्वारा फार्मों की प्रक्रिया एवं पंजीकरण की जाएगी।
कुछ समय के लिए निम्‍नलिखित फार्म/वितरक सीमित निविदा के माध्‍यम से मेट्रो रेलवे अस्‍पताल के लिए दवाओं की आपूर्ति कर रहे हैं। ये फार्म /वितरक पहले ही पूर्व रेलवे एवं द.पूर्व रेलवे के साथ पंजीकृत हैं।
क्रय आदेश के माध्‍यम से खरीद
क्रय आदेश पर सीमित निविदा के माध्‍यम से दवाओं की खरीद निम्‍नलिखित निबंधन एवं शर्त्‍तों के अधीन की जाती है :-

निबंधन एवं शर्त्‍तें

1.एफओआर मूल्‍य / }

2.
बिक्री कर : } इसका उल्‍लेख विस्‍तारपूर्वक स्‍पष्‍ट रूप से किया जाना चाहिए।

3.
उत्‍पाद शुल्‍क: }

4.
चुंगी : }

5.
आपूर्ति की गई दवाईयां आकस्‍मिक प्रभार से मुक्‍त होने चाहिए जो भारतीय रेलवे संविदा की मानक शर्त्‍तें नवीनतम संस्‍करण एवं इस संविदा के लिए लागू उसी विषय की अनुशेष के अधीन होने चाहिए।
6.
आपूर्ति  : क्रय आदेश की प्राप्‍ति से 4 – 6 सप्‍ताह के भीतर

7.
सामग्री मांगकर्ता को सौंपी जानी चाहिए।

7.
भुगतान: भुगतान ईएफटी (ईएफटी आदेश प्रपत्र यहां नीचे दिखाया गया है) के माध्‍यम से किया जाएगा एवं आपूर्ति के पश्‍चात बिल तीन प्रतियों में एवं साथ में संबंधित बाउचर 30 दिनों के भीतर मांगकर्ता के पास जमा की जानी चाहिए बशर्ते कि सही आपूर्ति एवं संविदा का संतोषप्रद निष्‍पादन किया गया हो एवं बिक्री कर, पंजीकरण संख्‍या तथा तिथि का उल्‍लेख बिल में किया जाना चाहिए। बिल की तीन प्रतियां इस कार्यालय के रिकार्ड के लिए भेजी जानी चाहिए।

8.
निरीक्षण : सामग्री निरीक्षण के अधीन होगी जिसका निरीक्षण अस्‍पताल में सामग्री के प्राप्‍त होने के बाद मांगकर्ता द्वारा या उसके प्राधिकृत प्रतिनिधि द्वारा किया जाएगा। सामग्री रेलवे/सरकारी/सरकारी मान्‍यताप्राप्‍त लेबोरेटरी में जांच के अधीन भी होगी।

9.
बिल पारित करनेवाले अधिकारी का हस्‍ताक्षर: चिकित्‍सा अधीक्षक,120, डीपीएस रोड, कोलकाता 700033.

10.
बिल का भुगतान करनेवाले अधिकारी का नाम: विसमुलेधि/मेट्रो रेलवे 33/1, चौरंगी रोड, कोलकाता -33.

11.
आईटीसीसी, एसटीसीसी को अद्यतन तक वैध होने चाहिए।

12.
उपरोक्‍त तिथि से बाहर बिल का भुगतान नहीं किया जाएगा जबतक कि इस कार्यालय में वैध आईटीसीसी एवं एसटीसीसी जमा न कर दी जाएग।
13.
लेबल/पट्टी आदि पर केवल रेलवे के प्रयोग हेतु शब्‍द मुद्रित/ मुहर लगाए जाने चाहिए।

14.
जीवनकाल /गारंटी सुपुर्दगी की तिथि से कम से कम 15 (पंद्रह) महीनों तक होने चाहिए।


:: ईएफटी फॉर्म डाउनलोड करें ::


1.
इलेक्‍ट्रॉनिक निधि अंतरण प्रणाली :

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) इलेक्‍ट्रॉनिक निधि अंतरण प्रणाली एक ऐसा तंत्र है जिसके माध्‍यम से बैंक का कोई भी खाताधारक किसी भी सहभागी वाणिज्‍यिक बैंकों में खाता रखने वाले किसी भी व्‍यक्‍ति को निधि का अंतरण कर सकता है।

2.
इएफटी प्रणाली का संचालन
) मेट्रो रेलवे आपूर्तिकर्ता / ठेकेदारों का पूर्ण विवरण देते हुए (शहर, बैंक, शाखा, आपूर्तिकर्ता/ ठेकेदारों के नाम, खाता का प्रकार, खाता संख्‍या, प्राधिकृत बैंक) ईएफटी आवेदन प्रपत्र को भुगतान किए जानेवाले चेक के साथ भारतीय स्‍टेट बैंक, चौरंगी शाखा को भेज देगा। विसमुलेधि, मेट्रो रेलवे द्वारा एक अनुसूची तैयार किया जाएगा तथा ईएफटी डाटा (दिन-1, कार्यदिवस) तैयार करने हेतु उसे ईएफटी के डुप्‍लीकेट के साथ एसबीआई को भेज देगा।
बी) एसबीआई आरबीआई द्वारा आपूर्ति किए गए सॉफ्टवेयर का प्रयोग करते हुए ईएफटी डाटा फाईल तैयार करेगा तथा उसे 3.30 बजे तक उसे स्‍थानीय आरबीआई (राष्‍ट्रीय क्‍लियरिंग सेल) के पास अंतरित कर देगा। प्रेषिती केंद्र, कोलकाता में आरबीआई सभी बैंकों से प्राप्‍त फाईलों को समेकित करेगा तथा शहरवार लेन–देन की छंटाई करेगा। बैंकवार प्रेषण डाटा फाईलों को उसी दिन बैकों में भेज दिया जाएगा (6.00 बजे के बाद)। अगली सुबह (दिन-2, कार्यदिवस) को प्राप्‍तकर्ता बैंक खाते पर क्रेडिट करने हेतु बैंकवार वाउचार भी तैयार किए जाएंगे।

सी) तीसरे दिन सुबह को गंतव्‍य केंद्र पर प्राप्‍तकर्ता बैंक आरबीआई द्वारा हस्‍तांतरित किए गए प्रेषण फाईलों की प्रक्रिया करेगा तथा आपूर्तिकर्ता / ठेकेदारों के खातों पर क्रेडिट करने के लिए गंतव्‍य शाखाओं को क्रेडिट रिपोर्ट प्रेषित करेगा।

3.
आपूर्तिकर्ताओं/ठेकेदारों को लाभ

) फार्म के खाते में तीसरे दिन सुबह ही (कार्यदिवस) रुपया जमा हो जाता है।
बी) भुगतान प्राप्‍त करने की समस्‍या और उसके बाद जमा करने की समस्‍या से निजात मिल जाती है।
सी) व्‍यक्‍तिगत रूप से चेक संग्रह करने की समस्‍या से छुटकारा मिल जाता है।
डी) कोलकाता से अन्‍य शहरों में अनावश्‍यक अंतरण समय में बचत होती है।

4.
ईएफटी सुविधा प्राप्‍त करना

) ईएफटी सुविधा का लाभ यहां संलग्‍न मैंडेट फॉर्म को भरकर प्राप्‍त किया जा सकता है।
बी) आपूर्तिकर्ता/ठेकेदार नए सिरे से मैंडेट फॉर्म जमा कर एक बैंक से अन्‍य बैंक में अंतरित हो सकते हैं। आपूर्तिकर्ता/ठेकेदार अपनी पसंद के अनुसार बैंक खातों का परिचालन करने के लिए स्‍वतंत्र हैं।




Source : मेट्रो रेलवे कोलकता / भारतीय रेल का पोर्टल CMS Team Last Reviewed on: 21-07-2014